Thoughts of saints.

हर एक आम इंसान की इच्छाएं बेहद बलबती होती हैं और इन इच्छाओं की पूर्ति के लिए व्यक्ति उल्टे-सीधे कर्म एवं सोच अपना लेता है। इच्छा की पूर्ति पर खुश एवं पूर्ण न होने पर रंज-ओ-गम में डूब जाता है। जन्म से लेकर मृत्यु तक इच्छाओं का तांता सा लगा रहता है और कभी पूर्णContinue reading “Thoughts of saints.”

Create your website with WordPress.com
Get started