Relationship with God.

Do not let anyone else who you can not tolerate trouble themselves.        Those who are attached to the divine, they neither fear land property nor relationships, they have an intoxication of being connected to one God. The ‘Supreme Soul’ is the supreme authority and everything is happening at the behest of his command, whomContinue reading “Relationship with God.”

हे ईश्वर तुम्हारा धन्यवाद!…

एक जादूगर जो मृत्यु के करीब था, मृत्यु से पहले अपने बेटे को चाँदी के सिक्कों से भरा थैला देता है और बताता है की “जब भी इस थैले से चाँदी के सिक्के खत्म हो जाएँ तो मैं तुम्हें एक *प्रार्थना* बताता हूँ, उसे दोहराने से चाँदी के सिक्के फिर से भरने लग जाएँगे ।Continue reading “हे ईश्वर तुम्हारा धन्यवाद!…”

Thoughts of saints.

हर एक आम इंसान की इच्छाएं बेहद बलबती होती हैं और इन इच्छाओं की पूर्ति के लिए व्यक्ति उल्टे-सीधे कर्म एवं सोच अपना लेता है। इच्छा की पूर्ति पर खुश एवं पूर्ण न होने पर रंज-ओ-गम में डूब जाता है। जन्म से लेकर मृत्यु तक इच्छाओं का तांता सा लगा रहता है और कभी पूर्णContinue reading “Thoughts of saints.”

जीवन में जब भी….

जीवन में जब भी हम खराब दौर से गुजरते हैं..तब मन में यह विचार जरूर आता है… कि, परमात्मा मेरी परेशानी देखता क्यों नहीं है l……मेरे दुःख कम क्यों नहीं करता l पर याद रखना…जब परीक्षा चल रही होती है…तब शिक्षक मौन रहते है………… …….#Sngms

Khud ka sang.

*बहुत लोग मेरे पास आते हैं, और कभी—कभी बहुत सहानुभूति से कुछ लोग मुझसे पूछते हैं:* *आप दिन भर एक कमरे में बैठे रहते हैं, खिड़की के भी बाहर नहीं झांकते, फिर भी आप ऊबते नहीं है?* *मैं स्वयं के साथ हूं मुझे ऊब क्यों हो ?*😊 *वे पूछते हैं ‘अकेले बैठे—बैठे आपका जी नहींContinue reading “Khud ka sang.”

कान्हा के संग(2)

(1) उद्धौ जाओ,तुम मिल आओ, खोज खबर गोपियों की लाना है। उन्हें समझाओ,मत घबराओ,दर्शन मेरा उनको समझना है। हर घट रहता,करता धरता, जग का मालिक बतलाना है। छोड़ विरह को,ज्ञान योग को,जाकर तुम्हे सिखाना है। (2) पहुँच पास संदेश सुनायो,सब सखि दौड़ दौड़ तब आयो,क्या ,कैसे मोहन सबन अब पूछन लागी है। काम धाम सबContinue reading “कान्हा के संग(2)”

कान्हा के संग(1).

प्रेम की बात,लिए सौगात,प्रभात किए बहु जीवन पाके। प्रेम रसिक, रस पीवन काहि, मन मे मनमोहन भाव जगाके। प्रेम को पाठ पढ़ाए सभी को,चितचोर रहे मोरे कृष्ण कन्हाई। जमुना जल अरु व्रजभूमि मा प्रेम जहां कण कण में समाई। गोकुल धाम, रह्यो अभिराम मोरे घनस्याम जहां रास रचायो। जहाँ ग्वालन ग्वालिन संग प्रभू धेनु चरायContinue reading “कान्हा के संग(1).”

दिल के भाव.

दिल के भाव, लबों पे आने न दो। रोंको खुद को, दो पल की ख़ुशी में , खुद को न बह जाने दो। ऐतबार करें कि न करें, बड़ी कशमकश होती है। मोहब्बत में टूट कर उठने में, बड़ी जिल्लत होती है। पता है सभी को , कि ये बेवफा है। जो एक दिन साथContinue reading “दिल के भाव.”

एक सवाल.

जीवन की दुर्गम राहों में अवलम्बन सत्य का लेकर चले। ऋषियों मुनियों ने आदर्श बनाया, वो परिपाटी दिल मे सदा पले।। हैरान हूं,जो सत्य मार्ग पर सदा चले, क्यो कांटो की सेज उन्हें मिलती। जो भ्र्ष्टाचार में लिप्त रहे, उनको जीवन की मौज मिले। आधार बनाकर धर्ममार्ग का, जीवन जीने पर इतराता हूं, आज नहींContinue reading “एक सवाल.”

चलो एक नई शुरुवात करते हैं.

चलो एक नयी शुरूआत करते हैं पिछली सब गलतियां माफ करते हैं अच्छा बुरा सब के साथ है हम अपने दिल को साफ़ करते हैं तेरा मेरा कौन है इस दुनिया में शक छोड़ अपने यकीं पर विश्वास करते हैं कोई पास हो या दूर हो दुआ में सभी को याद करते है अपने औरContinue reading “चलो एक नई शुरुवात करते हैं.”

Create your website with WordPress.com
Get started