जीवन के मोड़

पता नही किस मोड़ पे लाये, जीवन को कोई समझ न पाये, रैन दिनों का चलना चलके, पता नहीं तू कहाँ को जाये । कुछ तो खोज बीन अब करले, आज नहीं कल पछतायेगा, दुनिया का सब ज्ञान तुझे है, खुद का पता लगाना होगा ! …..@Sngms

Create your website with WordPress.com
Get started