दिल की बात(26).

हर वक़्त एक जैसाक्यों लगता है।किसी की यादों मेंक्यों मरता है।जो तेरा होता तो तेरे पास रहता ।छोड़कर जानेवाले काऐतबार क्यों करता है।साथ कब छोड़ दे सांसे तेरी,यहाँ तो अपना भरोसा नहीं।आज में हंस लो जीलो,अपनी सारी हसरते मिटालो,काल की चिंता ,तो सभी करते हैं।आज को भूलने की ,गुस्ताखी  मत कर,लाख प्रयत्न पर भी आज नContinue reading “दिल की बात(26).”

दिल की बात(25).

आज है आपको ऐतबार, मेरी वफ़ा का क्यो, कल तक सिर्फ तेरा, इंतजार करते थे। हर रोज बदलती है दुनिया, बदलना इसकी फितरत है। मत कर वफ़ा ज्यादा, क्योकि हर जन्म की मंजिल, मौत तक आकर खत्म होती है। और हर मुलाकात की किस्मत, बिछड़ना ही तय होती है। ………….#Sngms

Create your website at WordPress.com
Get started