Truth of life(3).What is our reality?

In the previous part, we did a scientific analysis of our reality. Which you all have liked so much. So, a big thank you to all of you. Today we will do a spiritual analysis of it. Who am I?This is my hand, my legs, my head, this is my body, then who am I?Continue reading “Truth of life(3).What is our reality?”

बाबू जी(2).

मेरे प्रिय मित्रों आपने इस कहानी के पहले भाग को बहुत प्यार दिया है। अतः आप सभी का दिल से बहुत बहुत आभार। अगर अपने इस कहानी का पहला भाग नहीं पढ़ा है तो पहले आप उसे पढ़ो अन्यथा आपको कहानी समझमें नहीं आएगी। बल्लू को बाहर बैठाकर अरुण और राजेश दोनों होटल के मालिकContinue reading “बाबू जी(2).”

बाबू जी(1).

अरुण और राजेश दोनों बहुत अच्छे मित्र थे। एक बार दोनों नैनीताल गए घूमने के लिए। वहाँ जाकर एक होटल में ठहरे थे। शाम के वक़्त दोनों बाहर जाकर पेड़ों के नीचे पत्थर की पट्टी में बैठकर मौषम का आनंद ले रहे थे।शाम का वक़्त और कड़ाके की ठंढ थी। कोहरा इतना था कि आपकेContinue reading “बाबू जी(1).”

Answer in silence.

Silence is the answer to all questions. How in silence? All the thinkers have become silent. When there are too many questions and you don’t have any answer, then be silent. Because silence means ending external things, just start searching inside your mind. You are from nature. Your questions are according to nature. So theContinue reading “Answer in silence.”

दिल की बात(24).

सांसो का क्या भरोसा,रुक जाएं कब कहाँ पर,कुछ कम कर जा ऐसा,हो शान इस जहां पर।ना जाने कितने जन्मे,मर कर चले गए हैं।यशवान दिल मे रहते,इतिहास बना गए हैं।अपने लिए जिए तो क्या,यहाँ सभी जी रहे हैं।गैरो के खातिर जीना,मानवता सिखा रही है। ……….#Sngms

Create your website at WordPress.com
Get started